बाराबंकीब्रेकिंग न्यूज़

बाराबंकी में दो चचेरी बहनों ने खाया जहरीला पदार्थ,दोनो की हुई मौत

बाराबंकी में संदिग्ध परिस्थितियो दो चचेरी बहनों की विषाक्त पदार्थ के सेवन के बाद हालत बिगड़ने के बाद मौते हो गई।

बाराबंकी में संदिग्ध परिस्थितियो दो चचेरी बहनों की विषाक्त पदार्थ के सेवन के बाद हालत बिगड़ने के बाद मौते हो गई।जानकारी पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने गंभीर रूप से बीमार हुई एक युवती के बयान दर्ज कर लिए जिसमे उसने पुलिस को बताया कि दीदी ने बर्तन धुलते समय उसे पेठा खिलाया था और उसके बाद कुछ ही देर मे उनको उल्टियां होने लगी और घर वाले जब तक कुछ समझ पाते उसकी मौत हो गई।वहीं चचेरी बहन के द्वारा खाए गए पेठा के बारे बताकर युवती की भी कुछ देर मौत हो गई।जिसके बाद मौके पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने दोनों चचेरी बहनों के शवो के कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम कराया है। जिले के बडडूपुर थाना क्षेत्र के झरसवा गांव निवासी छोटेलाल रावत की 18 वर्षीय बेटी नीतू व इन्ही के भाई राम चरित्र रावत की 17 वर्षीय बेटी कामिनी रविवार को अपने घर मे ही मौजूद थी इस दौरान कामिनी घर के बर्तनो को धूल रही थी। उतने मे पहुंची नीतू ने उसे पेठा खिला दिया जिसके कुछ देर मे नीतू को उल्टियां होने लगी परिवार वाले उसे अस्पताल ले जाने की तैयारी करने लगे तब तक नीतू की मौत हो गई।वहीं मृतका नीतू के द्वारा दिए पेठे को खाए कामिनी को भी उल्टियां शुरू हो गई वहीं इस बीच किसी ने पुलिस को नीतू के मौत की सूचना दे दी और मौके पर पहुंची पुलिस ने तब तक कामिनी के बयान दर्ज किए जिसमे उसने बताया कि उसे मृत हुई बहन ने पेठा खिलाया था और तब तक उसी हालत और गंभीर हो गई कुछ देर मे पुलिस की मदद से कामिनी को इलाज के लिए लेकर परिजन निकले ही थे कि उसकी भी रास्ते मे मौत हो गई। वही मौत की खबर पाकर आई पुलिस ने कामिनी और नीतू के शवो को तत्काल कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया वहीं मृतकों के पोस्टमार्टम लिए पहुंचे नीतू के बड़े भाई ने बताया कि विषाक्त पदार्थ का सेवन किया था और रात मे उसकी हालत बिगड़ने के बाद मौत हो गई।जबकि एएसपी उत्तरी आशुतोष मिश्र ने बताया कि मृतका आपस मे चचेरी बहने है और जानकारी पहुंची पुलिस ने मृत हुई कामिनी के बयान लिए जिसमे उसने बताया था कि उसे मृत नीतू ने बर्तन धुलते समय पेठा खिलाया था जिससे उसकी हालत बिगड़ गई है।वहीं हालत खराब होने पर कामिनी को इलाज के लिए परिजन लेकर अस्पताल जा रहे थे कि रास्ते मे कामिनी की भी मौत हो गई वहीं दोनो की मौतो के बाद पुलिस उपाधीक्षक फतेहपुर रघुवीर सिंह व स्थानीय कोतवाली प्रभारी राजकुमार व डॉग स्क्वायड भी मौके पर पहुंचा और साक्ष्य एकत्र किए। वहीं दोनो चहेरी बहनो की इस तरह विषाक्त पदार्थ के सेवन से असमय मौत होने के बाद क्षेत्र मे तरह तरह की चर्चाएं हो रही है जिसमे कोई प्रेम प्रसंग तो कोई कुछ और वजह होने की बात कहते दिख रहे वहीं ऑफ कैमरा एक क्षेत्रीय व्यक्ति ने कहा कि दोनो बहने थी तो रिश्ते मे चचेरी लेकिन एक साथ ही सारे कार्यों को निपटाना इनके दाहिने हाथ का खेल बस था।वहीं कुछ जानकारो का यह भी मानना है कि हो सकता है दोनो का एक ही कथित प्रेमी हो जिससे कुछ बात हुई हो और दोनो ने अंत में जान देने का फैसला ले लिया हो। खैर वजह कुछ भी दोनो तो मौत को गले लगा ही लिया अब कोई फरिश्ता अगर प्रकट हो जाए तो वही भले ही इनको बचा सकता था।मौत की वजह कुछ भी हो लेकिन मुकामी पुलिस तो महज आत्महत्या ही घटना को मान रही है।   रिपोर्ट:-अंकित मिश्रा/बाराबंकी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button