विदेश

हैक कर हथियाई हुई अरबों की क्रिप्टोकरंसी जब्त , “हैकिंग में शामिल एक जोड़े को गिरफ्तार किया.

अमेरिकी न्याय विभाग ने 3.6 अरब से अधिक मूल्य की हैक हुई क्रिप्टोकरंसी बरामद करने का ऐलान किया है. 2016 में हैकिंग के जरिए क्रिप्टोकरंसी चोरी करने के आरोप में न्यूयॉर्क के एक जोड़े को गिरफ्तार किया गया है

अमेरिकी न्याय विभाग ने 3.6 अरब से अधिक मूल्य की हैक हुई क्रिप्टोकरंसी बरामद करने का ऐलान किया है. 2016 में हैकिंग के जरिए क्रिप्टोकरंसी चोरी करने के आरोप में न्यूयॉर्क के एक जोड़े को गिरफ्तार किया गया है.अमेरिकी न्याय विभाग ने इसे क्रिप्टोकरंसी हैकिंग का सबसे बड़ा मामला बताया है. उसने मंगलवार को कथित तौर पर हैकिंग में शामिल एक जोड़े को गिरफ्तार किया. संघीय कानून प्रवर्तन अधिकारियों का कहना है कि 2016 में बिट फीनिक्स वर्चुअल करंसी एक्सचेंज से पैसा हैक किया गया था. इसी मामले में मैनहैट्टन में मंगलवार सुबह दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया. उन पर हैकिंग के जरिए पैसे चुराने और लेनदेन छिपाने के लिए अत्याधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल करने का आरोप है. दंपति को प्रारंभिक सुनवाई के लिए अदालत में पेश किया गया था. दंपति पर मनी लॉन्ड्रिंग और अमेरिका को आर्थिक रूप से नुकसान पहुंचाने की साजिश में शामिल होने का आरोप है. डिप्टी अटॉर्नी जनरल लीजा ओ'मोनाको ने कहा, “आज की गिरफ्तारी और विभाग द्वारा अब तक की सबसे बड़ी वित्तीय बरामदगी यह दर्शाती है कि क्रिप्टोकरंसी अपराधियों के लिए कोई सुरक्षित आश्रय नहीं है” उन्होंने कहा, “डिजिटल गुमनामी बनाए रखने के असफल प्रयास में आरोपी ने जटिल क्रिप्टोकरंसी लेनदेन के माध्यम से पैसे चुराए” कैसे मिला धन वापस? अधिकारियों ने कहा कि 2016 हैक हुए बिटक्वाइन का मूल्य 7.1 करोड़ डॉलर था. उसे दूसरे वैलेट में ट्रांसफर कर दिया गया. अब उसका मूल्य 4.5 अरब डॉलर से अधिक हो गया है. (पढ़ें-क्रिप्टोकरंसी ट्रेडिंग की लत, एक छिपी हुई महामारी?) जांचकर्ताओं को एक वॉलेट मिली जिसमें 2,000 से अधिक बिटक्वाइन खाते थे जांच के दौरान, जांचकर्ता अल्फा बे नामक एक डार्क वेब मार्केट तक पहुंचने में सफल रहे. अमेरिकी न्याय विभाग ने 2017 में इस डार्क वेब मार्केट पर प्रतिबंध लगा दिया था. अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने लिचेंस्टाइन, मॉर्गन और उनके व्यवसायों द्वारा नियंत्रित एक दर्जन से अधिक खातों में चोरी की गई धनराशि को ट्रैक किया.
जिसका इस्तेमाल 2016 में बिट फीनिक्स को बिटक्वाइन चोरी करने के लिए हैक करने के लिए किया गया था. (पढ़ें- बिटकॉइन सिटीः 'खतरनाक' काम क्यों करना चाहता है अल सल्वाडोर) अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने लिचेंस्टाइन, मॉर्गन और उनके व्यवसायों द्वारा नियंत्रित एक दर्जन से अधिक खातों से पैसे की चोरी का भी पता लगाया. अभियोजकों का कहना है कि बिटक्वाइन एटीएम से लाखों डॉलर निकाले गए. चोरी के पैसे से सोना, एनएफटी और वॉलमार्ट के उपहार कार्ड खरीदे गए. एए/सीके (एपी, रॉयटर्स).

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button