खेल जगत

अमीलिया केर ने अनोखा रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया।

भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने पांचवें और अंतिम वनडे में न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराकर सीरीज में क्लीन स्वीप होने से खुद को बचा लिया

भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने पांचवें और अंतिम वनडे में न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराकर सीरीज में क्लीन स्वीप होने से खुद को बचा लिया। इस हार के बाद भी न्यूजीलैंड ने वनडे सीरीज पर 4-1 से कब्जा जमा लिया। मेजबान टीम की सीरीज जीत में अमीलिया केर (Amelia Kerr) का बड़ा योगदान रहा, जिन्होंने बल्ले और गेंद से कमाल का प्रदर्शन किया। केर अपनी शानदार खेल से प्लेयर ऑफ द सीरीज जीतने में सफल रहीं और साथ ही उन्होंने एक अनोखा रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया।  केर ने इस सीरीज में 117.66 की औसत से 353 रन बनाए। इस दौरान उनके बल्ले से एक शतक और तीन अर्धशतक भी निकले। बल्लेबाजी के अलावा गेंदबाजी में उन्होंने कमाल का प्रदर्शन किया और सात विकेट चटकाने में सफल रहीं। केर को शानदार प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द सीरीज से नवाजा गया। उन्होंने साथ ही सीरीज में नौ कैच भी लपके। केर ने इसके साथ ही बाइलेटरल सीरीज में एक अनोखी उपलब्धि अपने नाम कर ली। केर ऐसा करने वाली पहली महिला क्रिकेटर बन गई हैं। उनसे आगे अब मेंस क्रिकेट में श्रीलंका के तिलकरत्ने दिलशान ही हैं, जिन्होंने किसी एक ​बाइलेटरल सीरीज में केर से ज्यादा रन बनाने के अलावा ज्यादा विकेट भी लिए हैं। दिलशान ने 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ यह कारनाम किया था।  अमीलिया केर ने मैच के बाद कहा, ‘पिछले कुछ हफ्ते बढ़िया रहे हैं। टीम में सभी खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया है। हम जानते हैं कि भारत एक अच्छी टीम है और हम विश्व कप में प्रत्येक मैच पर ध्यान देंगे। मैं हर गेंद को सम्मान देकर खेल रही थी और मैं विश्व कप में इसे बरकरार रखना चाहूंगी। मैंने बचपन से बल्लेबाजी और गेंदबाजी की हैं तो मुझे दोनों भूमिकाएं निभाने में कोई दिक्कत नहीं होती हैं। एक टीम के रूप में हमें खुद में और अपने साथियों पर भरोसा है। सीरीज जीत के बावजूद हमें अपनी फील्डिंग पर काम करना होगा।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button