अन्यक्राइम न्यूज़देशब्रेकिंग न्यूज़

UP :- एटा में 4 दिन से लापता था एक युवक का शव , जब शव मिला तो आक्रोशित भीड़ ने घेरा थाना

उत्तर प्रदेश के एटा जिले में चार दिन से लापता एक युवक का शव मिलने से आक्रोशित भीड़ ने थाने का घेराव कर दिया. थाने के घेराव की सूचना पाकर पुलिस विभाग के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और आक्रोशित भीड़ को समझा-बुझाकर शांत कराने की कोशिशें शुरू कर दी.

उत्तर प्रदेश के एटा जिले में चार दिन से लापता एक युवक का शव मिलने से आक्रोशित भीड़ ने थाने का घेराव कर दिया. थाने के घेराव की सूचना पाकर पुलिस विभाग के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और आक्रोशित भीड़ को समझा-बुझाकर शांत कराने की कोशिशें शुरू कर दी.
उत्तर प्रदेश के एटा जिले में चार दिन से लापता युवक का शव मिलने से सनसनी फैल गई है. शव मिलने के बाद आक्रोशित परिजनों और स्थानीय लोगों ने पुलिस के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए कोतवाली का घेराव कर लिया है. स्थानीय लोग और पीड़ित परिजनों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है. 
घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और आक्रोशित लोगों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं. फिलहाल इस  मामले में पुलिस ने एक संदिग्ध युवक को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ शुरू कर दी है…… पुलिस का दावा है कि इस केस का बहुत जल्द खुलासा कर दिया जाएगा. 
बता दें कि जलेसर में 4 दिन पहले 22 साल का गोपाल वर्मा नामक युवक अपने घर से पूजा करने के लिए मंदिर गया हुआ था. लेकिन देर रात तक जब वह मंदिर से वापस नही आया तो परिजनों ने उसकी तलाश शुरू कर दी. जब परिजनों के काफी खोजने के बाद भी गोपाल नहीं मिला तो उन्होंने 1 सितंबर को थाना कोतवाली नगर में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई.
इसी बीच परिजनों ने बताया कि उन्हें किसी अनजान नंबर से फोन आया और 50 लाख रुपये फिरौती की डिमांड की गई।  
परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया, जिसके चलते 4 दिन बाद गोपाल का शव खेत से बरामद हुआ…..  पुलिस की कार्रवाई से नाराज परिजन और स्थानीय लोगों ने कोतवाली का घेराव किया और पुलिस के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी की.
मृतक के चाचा विष्णु वर्मा ने बताया, ”हमें फोन आया कि 50 लाख रुपये दो, तभी हम गोपाल को आपके हवाले करेंगे. अगर पैसे नहीं दिए तो उसे मार डालेंगे. हमने इस बारे में पुलिस को भी बताया. पुलिस के सामने भी अपहरणकर्ताओं का फोन आया और उन्होंने रुपये की डिमांड की. लेकिन पुलिस ने इसे लेकर लापरवाही बरती और गोपाल को ढूंढने की कोशिश भी नहीं की.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button