देशब्रेकिंग न्यूज़

मथुरा में जिलाधिकारी के सामने किया पीड़ित ने आत्मदाह का प्रयास

अचानक हुए इस घटनाक्रम से जिलाधिकारी सहित उनके साथ चल रहे अन्य प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी भौचक्का रह गए।

सम्पूर्ण समाधान दिवस की समाप्ति के बाद तहसील परिसर में जिलाधिकारी डॉ नवनीत सिंह चहल के सामने चौमुहां निवासी एक पीड़ित व्यक्ति ने अपने ऊपर पेट्रोल डालकर आत्महत्या का प्रयास किया।शनिवार को संपूर्ण समाधान दिवस की समाप्ति पर वापस लौटते समय जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल के सामने एक पीड़ित ने पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह का प्रयास किया। अचानक हुए इस घटनाक्रम से जिलाधिकारी सहित उनके साथ चल रहे अन्य प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी भौचक्का रह गए। जिलाधिकारी की सुरक्षा में चल रहे अंग रक्षकों ने पीड़ित के हाथ से पेट्रोल की बोतल को छीन कर दूर फेंक दिया और पीड़ित व्यक्ति पर काबू पा लिया।

इतने में जिलाधिकारी ने ही स्वयं आगे जाकर पीड़ित से उसकी समस्या को सुना और साथ में चल रहे तहसीलदार छाता विवेकशील यादव और पुलिस क्षेत्राधिकारी छाता वरुण कुमार सिंह को पीड़ित की समस्या के शीघ्र निस्तारण किए जाने की दिशा निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने पीड़ित को अपना नंबर देते हुए उनके संपर्क में रहने की भी बात कही। जिलाधिकारी ने पीड़ित का दुख-दर्द सुनने के बाद उससे भविष्य में इस तरह की घटना ना करने की बात कही।

इसके बाद पीड़ित को तहसीलदार छाता विवेक सिंह यादव अपने साथ ले गये। इस संबंध में पीड़ित ने जानकारी देते हुए बताया कि वह तहसील के अंतर्गत चौमुंहा क्षेत्र का रहने वाला है और दबंगों ने उसकी जमीन पर पिछ्ले लम्बे समय से जबरन कब्जा कर रखा है तथा वह उसे और उसके परिजनों को आये दिन प्रताड़ित करते रहते हैं। जिसकी शिकायत उसने स्थानीय प्रशासन सहित जिले के आला अधिकारियों से भी की हुई है लेकिन उसकी शिकायत पर कोई भी कार्यवाही ना होने को वजह से कब्जाधारी दबंगों के हौंसले बुलंद हैं। एक लम्बे समय से न्याय ना मिल पाने की वजह से तंग आकर वह आत्मघाती कदम उठाने पर मजबूर हुआ है।

इस संबंध में जब पीड़ित से बात की गयी तो उसने अपने मामले की जानकारी देते हुए बताया। बाईट – पीड़ित व्यक्ति

रिपोर्ट – प्रताप सिंह

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button