राजनीति

दो लड़कों’ की जोड़ी में इतना अहंकार था कि कहा गुजरात से ‘दो गधे’ आए हैं:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव के पहले चरण की वोटिंग से पहले दिए एक इंटरव्यू में हर मुद्दे पर खुलकर बात की. उन्होंने राहुल गांधी के साथ-साथ अखिलेश यादव और जयंत चौधरी के गठबंधन पर भी तंज कसा.

उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनावों (UP Assembly Election) के पहले चरण की वोटिंग आज यानी 10 फरवरी को होने जा रही है. इससे ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने न्यूज एजेंसी ANI को दिए इंटरव्यू में यूपी के राजनीतिक समीकरण, बीजेपी को रोकने के लिए बने गठबंधन पर खुलकर बात की और विरोधियों पर निशाना साधा. PM मोदी ने यह भी बताया कि दो युवा नेता इतने अहंकार में थे कि उन्होंने भाषा पर नियंत्रण खो दिया था, लेकिन यूपी की जनता ने उस अहंकार का माकूल जवाब दिया.

‘लड़के भी थे, बुआ भी थीं, पर क्या हुआ’?

जब पीएम मोदी से पूछा गया कि यूपी में ऐसा लग रहा है कि एक तरफ युवा नेता जैसे कि अखिलेश और जयंत हैं और दूसरी तरफ मोदी- योगी और पूरी सरकारी मशीनरी. इस पर PM ने कहा, ‘यह दो लड़कों वाला खेल तो हमने पहले भी देखा है. इतना अहंकार था कि उन्‍होंने गुजरात के ‘दो गधे’ इस शब्‍द का प्रयोग किया था. उत्‍तर प्रदेश की जनता ने उनको हिसाब दिखा दिया. एक बार तो ‘दो लड़के’ भी थे और एक ‘बुआ जी’ भी थीं लेकिन फिर भी उनका काम नहीं बना’.

विपक्षी गठबंधन पर कसा तंज

जयंत और अखिलेश और अतीत में हुए राहुल-अखिलेश गठबंधन की गंभीरता पर सवाल उठाते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अगर कहीं चुनाव लड़ने की अर्हता 25 साल हो और कोई पिता कहे कि मेरे एक 10 साल और दूसरे 15 साल के लड़के हैं, दोनों मिलाकर 25 साल के हो गए तो क्‍या उन्‍हें कोई चुनाव लड़ने देगा. सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा था कि राज्य में योजनाएं भाजपा की नहीं हैं, भाजपा अमलीजामा पहनाती है. इस पर अखिलेश को आड़े हाथों लेते हुए PM ने कहा कि देश में एक कल्चर चला है, राजनेता बोलते रहते हैं कि हम ये करेंगे, वो करेंगे. 50 साल बाद भी कोई अगर वो काम कर देगा तो कहेंगे कि हमने ये उस समय कहा था, ऐसे लोग बहुत मिल जाएंगे.

लखीमपुर हिंसा पर भी बोले पीएम

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट जो कमेटी बनाना चाहती थी, राज्य सरकार ने सहमति दी. जिस जज के नेतृत्व में जांच चाहती थी सरकार ने उसकी सहमति दी. राज्य सरकार पारदर्शिता के साथ काम कर रही है तभी सुप्रीम कोर्ट की इच्छा के अनुसार सारे निर्णय करती है. गौरतलब है कि इस मामले को लेकर विपक्ष ने BJP सरकार पर जमकर हमला बोला था और निष्पक्ष जांच नहीं कराने का आरोप भी लगाया था.

परिवारवाद पर PM ने कही ये बात

परिवारवाद से जुड़े सवालों पर पीएम ने कहा कि मैं समाज के लिए हूं, लेकिन मैं जो नकली समाजवाद की चर्चा करता हूं ये पूरी तरह परिवारवाद है. लोहिया जी का परिवार कहीं नजर आता है क्या? जॉर्ज फर्नांडिस का परिवार कहीं नजर आता है क्या? नीतीश बाबू का परिवार कहीं नजर आता है क्या? प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि एक बार किसी ने मुझे चिट्ठी भेजी थी कि यूपी में समाजवादी पार्टी के परिवार से 45 लोग ऐसे थे जो किसी न किसी पद पर थे. किसी ने मुझसे कहा कि उनके पूरे परिवार में 25 साल से अधिक आयु के हर व्यक्ति को चुनाव लड़ने का मौका दिया गया है.

कानून व्यवस्था पर CM योगी को सराहा

उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था के मुद्दे पर पीएम मोदी ने सीएम योगी आदित्यनाथ की पीठ थपथपाई. उन्होंने कहा कि योगी जी की योजनाएं अच्छी हैं, इसलिए विपक्ष परेशान है. योगी जी ने समयसीमा में सभी काम पूरे किए हैं. आज यूपी की लड़कियां रात को बाहर निकल सकती हैं, योगी जी ने सुरक्षा को प्राथमिकता दी. भाजपा की जीत की संभावना पर PM ने कहा कि बीजेपी हार-हारकर जीतने लगी है. हमने विकास को प्राथमिकता दी है. जहां हमारी सरकारें हैं, वहां जनता ने हमारे काम देखे हैं. इसलिए भाजपा भारी बहुमत से जीतेगी.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button