लाइफस्टाइल

बेदाग और ग्लोइंग त्वचा पाने के लिए इन 5 सामग्री को त्वचा पर लगाने से सावधानी बरतनी चाहिए.

हेल्दी और ग्लोइंग त्वचा कौन नहीं चाहता है. इसके लिए बहुत से ब्यूटी प्रोडक्ट्स बाजार में उपलब्ध भी है. लेकिन केमिकल युक्त होने के कारण बहुत से लोग (Skin Care Tips) इनका इस्तेमाल नहीं करते हैं

हेल्दी और ग्लोइंग त्वचा कौन नहीं चाहता है. इसके लिए बहुत से ब्यूटी प्रोडक्ट्स बाजार में उपलब्ध भी है. लेकिन केमिकल युक्त होने के कारण बहुत से लोग (Skin Care Tips) इनका इस्तेमाल नहीं करते हैं. ऐसे में लोग त्वचा की देखभाल के लिए घरेलू नुस्खे आजमाते हैं. रसोई में आसानी से मौजूद सामग्री का इस्तेमाल करके कई तरह के फेस पैक और स्क्रब (Scrub) का इस्तेमाल करते हैं. प्राकृतिक सामग्री के होने के बावजूद आपको पता होना चाहिए कि आपकी त्वचा पर क्या सूट करता है और क्या नहीं. सभी सामग्रियां (Ingredients) आपकी त्वचा के लिए स्वस्थ नहीं हैं. कई बार इन घरेलू नुस्खों का आपकी त्वचा पर बुरा प्रभाव भी पड़ सकता है. आइए जानें वो कौन से सामग्री हैं जिनका इस्तेमाल करते समय हमें सावधानी बरतनी चाहिए.

नींबू

नींबू विटामिन सी से भरपूर होता है. इसमें साइट्रिक एसिड होता है जो संवेदनशील त्वचा पर जलन पैदा कर सकता है. हेल्थलाइन के अनुसार चेहरे पर नींबू का रस लगाने से फाइटोफोटोडर्माटाइटिस हो सकता है. ये एक प्रकार की त्वचा की प्रतिक्रिया है जो खट्टे फलों के कारण होती है. नींबू का रस भी सनबर्न की संभावना पैदा कर सकता है.

दालचीनी

दालचीनी त्वचा के लिए अच्छी नहीं होती है. हेल्थलाइन के अनुसार दालचीनी चेहरे पर रेडनेस और जलन पैदा कर सकती है. संवेदनशील त्वचा वाले लोगों को इससे बचना चाहिए.

सेब का सिरका

बहुत से लोग त्वचा के लिए सेब के सिरके का इस्तेमाल करते हैं. हालांकि इससे बचा जाना चाहिए क्योंकि ये अत्यधिक एसिडिक होता है. ये त्वचा संबंधित कई समस्याओं का कारण बन सकता है. सेब के सिरके के अत्यधिक इस्तेमाल से जलन हो सकती है.

वेजिटेबल ऑयल

बहुत से लोग त्वचा की देखभाल के लिए वेजिटेबल ऑयल का इस्तेमाल करते हैं. हालांकि अलग-अलग लोगों की त्वचा अलग-अलग प्रकार की होती है. इन्हें एक ही पैटर्न का पालन नहीं करना चाहिए. वेजिटेबल ऑयल लगाने से डर्मेटाइटिस, पायरियासिस रसिया आदि हो सकते हैं.

लैवेंडर एसेंशियल ऑयल

लैवेंडर एसेंशियल ऑयल को अरोमा थेरेपी के लिए विशेष रूप से इस्तेमाल किया जाता है. ये त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं को दूर करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है. लेकिन संवेदनशील त्वचा पर इसका इस्तेमाल करते समय सावधानी रखनी चाहिए. ये त्वचा पर विपरीत प्रभाव डाल सकता है. इस कारण त्वचा पर जलन और चकत्ते हो सकते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button