राजनीति

यूपी असेंबली चुनाव में हार के बाद सपा गठबंधन में दरार शुरू

यूपी असेंबली चुनाव (UP Assembly Election Result 2022) में मिली हार के बाद सपा गठबंधन में दरार पड़नी शुरू हो गई है. गठबंधन में साझीदार रही

 यूपी असेंबली चुनाव (UP Assembly Election Result 2022) में मिली हार के बाद सपा गठबंधन में दरार पड़नी शुरू हो गई है. गठबंधन में साझीदार रहे महान दल के नेता केशव देव मौर्य (Keshav Dev Maurya) ने समाजवादी पार्टी पर सवाल उठाए हैं. केशव देव मौर्य कहा कि स्वामी प्रसाद के आने के बाद पार्टी ओवर कॉन्फिडेंस हो गई थी. सपा ने हमारा सही इस्तेमाल नहीं किया.

‘चुनाव में हमारा सही इस्तेमाल नहीं हुआ’

महान दल के नेता केशव देव मौर्य (Keshav Dev Maurya) ने चुनाव परिणाम आने के बाद अपने सहयोगी दल सपा पर हार का ठीकरा फोड़ दिया है. केशव देव मौर्य ने साफ कहा कि सपा ने हमारा सही इस्तेमाल नहीं किया. वह तो स्वामी प्रसाद मौर्य पर अधिक भरोसा करते रहे, जिनको बीजेपी ने ही रणनीति के तहत समाजवादी पार्टी में भेजा था.

‘राजभर की तरह हमें हेलीकॉप्टर नहीं मिला’

मौर्य (Keshav Dev Maurya) ने कहा कि महान दल का सारा वोट पूरी तरह से सपा में शिफ्ट नहीं हो पाया. उन्होंने कहा कि जनता ने महान दल को जितना समर्थन दिया, वो वोट के रूप में ट्रांसफर नहीं हुआ. अगर हम अधिक जगह पर प्रचार करने जाते तो मामला सुधर सकता था. मौर्य ने कहा कि प्रचार के लिए सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर को हेलिकाप्टर उपलब्ध कराया गया, जबकि हमको नहीं मिला.

स्वामी प्रसाद के आने से लोग हो गए सुस्त’

केशव देव मौर्य (Keshav Dev Maurya) ने कहा कि मैं लगातार सपा के प्रत्याशियों से कहता रहा आप रैली कराओ, आप हमारे कार्यकर्ताओं का इस्तेमाल करो, लेकिन उन्होंने सही से इस्तेमाल नहीं किया. वह सभी लोग स्वामी प्रसाद मौर्य के आने से आश्वस्त हो गए थे. स्वामी प्रसाद मौर्य नेता हैं, उनका दो-चार जिलों में प्रभाव हो सकता है, लेकिन पूरे यूपी में प्रभाव नहीं था. व्यस्तता के कारण उस दौरान मेरी अखिलेश यादव जी से मुलाकात नहीं हो पाई.

‘सपा में स्वामी का शामिल होना बीजेपी की चाल’

केशव देव मौर्य ने तो स्वामी प्रसाद मौर्य की भूमिका पर भी बड़ा सवाल खड़ा किया. उन्होंने कहा कि मुझे इस बात की आशंका है कि स्वामी प्रसाद मौर्य का सपा में आना भी बीजेपी की रणनीति हो सकती है.

बीजेपी और बीएसपी ने किया था गठबंधन’

ज्ञात हो कि यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में सपा ने छोटे दलों के साथ गठबंधन किया था. इन्हीं में से एक महान दल के नेता केशव देव मौर्य (Keshav Dev Maurya) ने सपा पर अनदेखी का गंभीर आरोप लगाया है. कहा कि हमको लगता है कि बीजेपी और बसपा का अंदरूनी गठबंधन था. यूपी के विधानसभा चुनाव में भाजपा गठबंधन को 273 और एसपी गठबंधन को 125 सीटें मिली हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button