लाइफस्टाइल

ओमिक्रॉन का ‘स्टील्थ वैरिएंट’ क्या है? जानें क्यों है

कोविड-19 के ओमिक्रॉन स्वरूप के हिस्से बीए.2 अब भी बड़े स्तर पर मौजूद है जबकि इंग्लैंड में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले कम हो गए हैं।

कोविड-19 के ओमिक्रॉन स्वरूप के हिस्से बीए.2 अब भी बड़े स्तर पर मौजूद है जबकि इंग्लैंड में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले कम हो गए हैं। एक ताजा अध्ययन में बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी गई। ओमिक्रॉन के इस स्वरूप को विशेषज्ञों ने कुछ आनुवंशिक बदलावों के कारण ”स्टील्थ वैरिएंट” नाम दिया है। ब्रिटेन में ‘सामुदायिक प्रसार का वास्तविक समय में आकलन’ (रिएक्ट-1) अध्ययन के विशेषज्ञों ने आगाह किया कि ओमिक्रॉन से संक्रमित होने की दर अब भी बहुत अधिक है और बड़ी उम्र के वयस्कों में इसके मामले बढ़ने की संभावना चिंता का कारण हो सकती है। इम्पीरियल कॉलेज लंदन और इप्सोस एमओआरआई का विश्लेषण आठ फरवरी से एक मार्च के बीच लिए गए लार के करीब 95,000 नमूनों पर आधारित है। यह दिखाता है कि लंदन में बीए.2 से संक्रमित पाए जाने की दर अधिक है। इम्पीरियल्स स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के रिएक्ट कार्यक्रम के निदेशक प्रोफेसर पॉल इलियट ने कहा, ”यह उत्साहजनक है कि इंग्लैंड में संक्रमण के मामले कम हो रहे हैं लेकिन इनकी संख्या अब भी बहुत अधिक है और बड़ी उम्र के वयस्कों में इनके मामले बढ़ने की संभावना चिंता की बात हो सकती है।” उन्होंने कहा, ”अच्छी खबर यह है कि यह टीके की खुराक ले चुके लोग हैं, हालांकि संक्रमण के उच्च मामलों से और अधिक लोग बीमार पड़ेंगे इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि लोग संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जन स्वास्थ्य संबंधी दिशा निर्देश का पालन करते रहे।” ब्रिटेन की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी (यूकेएसए) की मुख्य कार्यकारी डॉ. जेनी हैरिस ने आगाह किया कि ताजा आंकड़ें दिखाते हैं कि महामारी अभी खत्म नहीं हुई है और अब भी एहतियात बरतने की जरूरत है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button